हुनर शायरी | Hunar Shayari in Hindi

हुनर तो सभी के पास होता है दोस्तों लेकिन वह अपने हुनर को पहचानने नहीं पाते इसी पर हमने आपके लिए हुनर शायरी | Hunar Shayari in Hindi लाये है

Hunar Shayari in Hindi

औरों के जोर पर अगर उड़कर दिखाओगे,
अपने परों से उड़ने का हुनर भूल जाओगे

Hunar Shayari in Hindi

हुनर तो सबमें होता है फर्क सिर्फ़ इतना आता है,
किसी का छिप जाता है तो किसी का छप जाता हैं.

माना कि पहुँच गया हूँ सफलता की ऊँचाइयों पर आज मैं,
लेकिन लोगों के दिलों में उतरने का हुनर आज भी रखता हूँ

आज कतरा के गुजरते हुए पाया है तुझे,
बेवफाई का हुनर किसने सिखाया है तुझे

लोग अक्सर वही कम बोलते है,
ज़माने में जिनके हुनर बोलते है

Hunar Shayari in Hindi
Hunar Shayari in Hindi

न जाने किस हुनर को शायरी कहते होंगे लोग,
हम तो वो लिख़ रहे हैँ, जो किसी से कह नहीं पाते

मुझमें हुनर कुछ ख़ास नहीं,
सादगी के सिवा कुछ मेरे पास नहीं

ऐसा हुनर नहीं रखते अब
टूटे तो सम्भल सके
हम दिलदार हुए तो क्या हुआ
पर अब दिल नहीं रखते।

Hunar hai to kadar hai in hindi

कभी भी किसी के आगे सर नहीं झुकाया है मैंने,
क्योंकि मेरे माँ-बाप ने कभी भी यह हुनर नहीं सिखाया हैं मुझे।

दिल का दर्द अक्सर आँखों में आँसू लाता हैं,
पर इंसान इन्हें छुपाने का हुनर सीख जाता हैं

हमने गलती से प्यार करने का हुनर क्या सिख लिया,
ऐसा लगता हैं की हमने खुद को बर्बाद कर लिया।

अपना सर पटकाती रही आँधिया हसरत से
बच गए वो पेड़ जिनमे हुनर
लचकनेका था।

मार ही डालते बेमौत ये दुनिया वाले,
हम जो ज़िंदा है तो जीने का हुनर रखते हैं

टैलेंट पर शायरी

किसी की करने के लिए जिगर चाहिये,
बुराई तो बिना हुनर के किसी की भी कर सकते हैं

Hunar Shayari in Hindi
Hunar Shayari in Hindi

खुद को मनवाने का मुझको भी हुनर आता है,
मैं वह कतरा हूँ समन्दर मेरे घर आता हैं.

हुनर पर सुविचार

दिल में मुहब्बत, आँखों में इन्तजार का हुनर दे कर चला गया,
चाहा था दिलों जान से जिस शख्स को नजाने किधर चला गया.

Hunar Shayari in Hindi
Hunar Shayari in Hindi

माना कि पहुँच गया हूँ सफलता की ऊँचाइयों पर आज मैं
लेकिन लोगों के दिलों में उतरने का हुनर आज भी रखता हूँ

मेरी सिर्फ एक ही तमन्ना हैं, मुझे भी अपने
हुनर के सहारे करना अपने माँ-बाप का नाम ऊँचा हैं।

इश्क में आसान है तो भुला दो,
हो सके तो ये हुनर मुझे भी सिखा दो.

अगर उड़कर दिखाएंगे औरो के जोर पर
तो अपने पेरो पर उड़ने का हुनर
भूल जायेंगे।

Hunar Shayari in Hindi
Hunar Shayari in Hindi

कम बोलते हे जो लोग
अक्सर समय आने पर उन लोगो के
हुनर बोलते हे।

प्यार करने वाले बहोत हे फूलो से
मगर कांटे भी हुनर रखते हे
उनकी राहो से गुजर जाए कोई मगर
याद आने का हुनर रखते हे।

Hunar Shayari in Hindi
Hunar Shayari in Hindi

सोचों तो एक खूबसूरत हुनर है खामोश रहना
अकेले में सोचना, कितना बड़ा ऐब है सब कुछ कहना

होठों ने सारी बातें छुपा कर रखी,
आँखों को यह हुनर कभी आया ही नहीं.

प्रतिभा पर शायरी

ज़ुल्म के सारे हुनर हम पर यूँ आज़माए गये,
ज़ुल्म भी सहा हमने और ज़ालिम भी कहलाये गये।

दिल का दर्द अक्सर आँखों में आँसू लाता हैं,
सिर्फ़ इंसान इन्हें छुपाने का हुनर सीख जाता हैं

Hunar Shayari in Hindi
टैलेंट पर शायरी

जमाने में आये हो तो जीने का हुनर रखना,
दुश्मनों का कोई खतरा नहीं, बस अपनों पर नजर रखना

लगता है मैं भूल चुका हूँ मुस्कुराने का हुनर,
कोशिश जब भी करता हूँ आँसू निकल आते हैं.

छोटी से उम्र में बड़े तजुर्बे करवा दिए,
पेट की भूख ने सैकड़ों हुनर सिखा दिए

टैलेंट पर शायरी

Hunar Shayari in Hindi
Hunar Quotes

वक्त सिखा देता है जीने का हुनर फिर
क्या नसीब, क्या मुक़द्दर और क्या हाथ की लकीरें

दिल का दर्द अक्सर आँखों में आँसू लाता हैं,
सिर्फ़ इंसान इन्हें छुपाने का हुनर सीख जाता हैं.

जिगर चाहिए किसी की तारीफ करने के लिए
बुराई तो बिना हुनर के किसी की भी
कर सकते हे।

Hunar WhatsApp Shayari

Hunar Shayari in Hindi

जिनके पास गिरकर फिर से उठने का हुनर होता हैं,
उनका एक ना एक दिन कामियाबी से मिलना तय होता है।

Hunar Ki Tareef Shayari

मुझे हर किसी को अपना बनाने का हुनर आता है
तभी मेरे बदन पर रोज़ एक घाव नया नज़र आता है

ना जाने उनके हुनर में क्या बात है, बड़ी
शिद्दत से नजरअंदाज करते हैं वो हमें।

जब भी बात झूठ बोलने की आती है, तो तेरे हुनर
का जिक्र मेरे मुँह से अपने आप निकल आता हैं।

जो लोग हमेशा निकालते रहते हैं मेरे अंदर की कमियां,
अब वो मेरे हुनर को देखकर निकालते रहते हैं अपने अंदर की कमियां।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top